Saturday, 5 January 2019

online work some formula

welcome to friends
जी हा दोस्तो ऑनलाइन वर्क  मे आपका स्वागत हे l जी हा दोस्तो आज की दुनिया ने बहुत तरक्की कर ली हे जिसमे इंटरनेट की दुनिया ने तो समझो की लगभग सब कुछ कर लिया हे मानो । जी हा दोस्तो एस वैबसाइट के माध्यम से हम आपको ऑनलाइन की दुनिया की कुछ  जानकारी देने की कोसिस करेगे
 
जी हा दोस्त मे आपको कुछ खास जानकारी मे आपके साथ साझा करने की कोसिस करुगा । ओर हा दोस्तो आपकी खास जानकारी के लिए आप  जरूर पड़े ↠⇒⇒⇒क्लिक करे 

Saturday, 10 March 2018

डिजिटल इंडिया पोर्टल के दबारा पैन कार्ड बनाये



नमस्ते दोस्तों आज हम आपको बतायगे की डिजिटल इंडिया पोर्टल के दबारा पैन कार्ड केसे बनायगे सबसे पहले आप गूगल सर्च को ओपन करेगे और सर्च करेगे डिजिटल इंडिया पोर्टल लिखेगे

जेसे ही डिजिटल इंडिया पोर्टल की वेबसाइट को ओपन करते हे और हम पोर्टल  के बारे में देखते हे !और जितने भी विडियो इस वेबसाइट में  डाले गए हे उनको जरुर देखे और हो सके तों बार बार देख सकते हे
विडियो देखने के बाद हम sign up करगे जिसमे जो भी जानकारी और एड्रेस पूछते हे हमको पुर भरे
sign up करने के बाद हमको कुछ दिन का इंतजार करना होगो
और दोस्तों हो सके तो आप जब तक आपको id pswarrd नहीं मिलता हे तब तक आप पोर्टल पर जितने भी विडियो हे उनको फोलो कर सकते हे
जेसे ही हमको id paswarrd मिलता हे हमको फिर लोंगिन कर लेना हे और लोंगिन होने के बाद आप डिजिटल इंडिया पोर्टल के माध्यम से आप पैन कार्ड बना सकते हे

Friday, 29 September 2017

गरीबी की जिन्दगी

गरीबी की जिन्दगी 
a

पहले जब भी में किसी भी गरीब को देखता तो बड़ा अफ़सोस होता ..सोचता कब और कैसे इसकी दरिद्रता दूर करूँ ? भारत में रहते हुए मेने उसकी चारो दिशाओ में भ्रमण किया और गावं , देहात , शहर और कस्बो की जिन्दगी को काफी करीब से देखने समझने का मौका मिला ....मेरी सहानभूति हमेशा गरीबो और कमजोरो के प्रति रहती ...पर जबसे मेने पश्चिम की जिन्दगी को करीब से देखा और समझा ... मेरी सोच में परिवर्तन आने लगा ...


आप में से कुछ लोग मेरी सोच से असहमत हो सकते है  ..पर जो सच्चाई है उसे हम यूँ झुटला नहीं सकते ..मानवता के नाते हम भले ही कितनी बड़ी बड़ी बाते करे ...पर अंत में सच के कडवे झूट को हमें पीना ही पड़ेगा ...


इक बात जो मेने अपने अनुभव में देखी ..वो यह की ...जिन मुल्को में सर्दी ज्यादा नहीं पड़ती या यूँ भी कह सकते है ..जंहा गर्मी पड़ती है वंहा गरीबी ज्यादा होती है ......इसके कई कारण है ...ठन्डे देशो में जिन्दगी यूँ आसन नहीं होती ..मौत आपका हर पल स्वागत करने के लिए तैयार रहती है ..वंहा जिन्दा रहने के लिए कुछ मूल भूत सुविधाओ जैसे ..पक्का घर , बिजली , गर्मी , पानी , सडक , दूरसंचार , यातयात के साधन आदि का होना अनिवार्य है

 आपकी मर्जी है ...किसी भी खुली जगह इक चादर डाल कर अपना रेन बसेरा बना ले ...कोई भी खाली जगह देख अपनी नित किर्या को निबटा ले ...ना तो कोई कानून  है ...ना कोई उन्हें मानने वाला ..अगर कोई आवाज करे भी तो ..बस गरीब होने भर से सारे खून माफ़ ...

शायद इतना भी होता तो भी जीना इतना आसन ना होता ...पर कंही भी किसी को काम का मिल जाना ....आदमी किसी फैक्ट्री में कोई काम ढूंड लेता ..नहीं तो सडक पे या फूटपाथ पे अपनी दुकान सजा लेता ..यह ना भी हो तो कोई ठेला ही पकड लो ..हो गया रोटी पानी और धंधे का जुगाड़ ...


अगर शादी शुदा है तो ..घरवाली को काम की चिंता ही नहीं .... हर घर में कामवाली बाई की वैकेन्सी का बोर्ड टंगा मिल जाएगा ...अब रहने की सुविधा हल ...नौकरी या रोजगार की समस्या हल ..तो हो गई जिन्दगी आसन...


बस यही आसन जिन्दगी है सारी बीमारियों और फसाद की जड़ ...सरकार का ढीला कानून ..आपको कंही भी रहने , नित्य कर्म करने और रोजगार करने की आजादी देता है ...फिर यही ढीला कानून आपकी जिन्दगी को इक गिली लकड़ी की तरह रोज जलाता है ...


लाखो लोग इन ठुल मुल रवैये की वजह से गावं देहात छोड़ शहर भागे चले आते है और फिर अपनी और वंहा पर रहने वालो की जिन्दगी को धीरे धीरे इक अँधेरे कुए की तरह ले जाते है ...


झुग्गी झोपडी देखते ही देखते इक विकराल कालोनी का रूप धारण कर लेती है .... जन्हा कोई मूल भूत जन सुविधा जैसे सडक , बिजली , पानी , स्कूल , हॉस्पिटल और कानून वयवस्था नहीं होती...फिर शुरू होता है राजनीती का खेल ...


इक कालोनी जिसका मूल आधार ही गैर क़ानूनी है ..मानवता के नाम पे राजनितिक आखाडा बन जाती है ...कुछ छोटे मोटे नेता अपनी नेतागिरी चमकाते हुए उन्हें राशन कार्ड , पहचान पत्र और वोट कार्ड बनवाने के नाम पे इसे इक वोट बैंक में बदल देते है .... जब इस वोट बैंक को अपनी ताकत का अंदाजा होता है  ..फिर शुरू होता इक नया आन्दोलन ..की सरकार निकम्मी है जनता के लिए कुछ नहीं करती ?


अगर गौर से देखे तो गर्म देशो में गरीब की जिन्दगी बहुत ही आसन होती है ..इसलिए वोह हर जगह अपने अस्तित्व को बचा ले जाता है

 कांश उस वक़्त हमने कुछ ठोस कदम उठाये होते तो आज शायद कानून में...  मानवता की दुहाई के नाम पे इतना लचीलापन ना होता और गरीब की जिन्दगी भी कुछ कठिन होती तो शायद गरीब का इतना ज्यादा फलना फूलना मुमकिन ना होता और जब गरीब ही कम होता तो गरीबी भी कम दिखती
जब इन्सान की आम जिन्दगी कठिन होती है .. तभी वोह संघर्ष करता है और जीवन में जीने के नए आयाम धुन्ड़ता है
 पश्चिम में हड्डियों को कड़का देने वाली ठण्ड ...किसी गरीब को किसी झुग्गी में जिन्दा नही रहने देती ...वंहा का सख्त कानून यूँ सडक पे उसे कोई टोकरा या ठेला लगाने नही देता ...
मौसम और कानून मिलकर उसे मजबूर करते ..की वोह दस बार सोचे और तब कुछ करे ..नाकि यूँही बिना सोचे समझे अपनी पोटली लिए गावं से गुजरने वाली ट्रेन पकड़ ... किसी भी शहर की तरफ रुखसत हो ले ...

सख्त जिन्दगी और कानून उसे मजबूर करते है की वोह जन्हा है उसे बेहतर बनाने के लिए प्रयत्न करे....ना की इक आसन जिन्दगी के लिए शहरो का पलायन करे ....

शायद यहि आसन जिन्दगी इक गरीब को जीवन भर गरीबी में जीने को मजबूर कर देती है ....की उसे जिन्दा रहने या अपने अस्तित्व को बचाए रखने के लिए ज्यादा परिश्रम नहीं करना पड़ता ...यह आसन जिन्दगी गरीब मुल्को में उनकी जनसंख्या में बेहिसाब बढ़ोतरी करती जाती है ..क्योकि ..
इसलिए किसी गरीब को मानवता के नाम पे भीख दे कर उसे जीवन भर के लिया अपाहिज ना बनाये ... और सरकार भी किसी गैरकानूनी बस्तियों को पक्का ना करे और किसी को भी सिर्फ मानवता के नाम पे सडक या फूटपाथ पे धंधा चलाने से रोकना चाहिए ... जब तक आदमी पुरे संघर्ष से नहीं गुजरता ..वोह अपना बल और बुद्धि का सर्वश्रेस्थ उपयोग नहीं करता ...

किसी ने सच ही कहा है ...की ... सोना जितना तपता है उतना ही निखरता है और ....

 गरीबी में जिन्दा रहना सबसे आसान है ....पर गरीबी में जिन्दगी का सफर सबसे मुश्किल
“आवश्यकता ही अविष्कार की जननी होती है
जी हा दोस्तों बस्तों में देकः जब तो गरीबी की जिन्दगी काफी मुस्किल हे लिकिन नामुमकिन नहीं 

Monday, 7 August 2017

हमारे जीबन में माता पिता का स्थान

Nmste i am Balbodi Ahirwar Ramtoirya Chhatarpur MP INDIA
   I AM  MY FATHER NAME  RAMLA AHIRWAR जिंदगी में हम जितनी भी आगे पहुंचेंगे सबसे ज्यादा योगदान हमारे माता-पिता का होगा क्योंकि दोस्तों माता पिता हमारे सब कुछ होते हैं माता-पिता हमारे गुरु भी हो सकते हैं,माता-पिता हमारे अच्छे दोस्त भी हो सकते हैं,माता-पिता हमारे अच्छे सलाहकार भी हो सकते हैं,माता-पिता हमारे सब कुछ हो सकते हैं,हर इंसान की जिंदगी में अपने mata pita ka mahatva है दोस्तों जैसे ही एक इंसान जन्म लेता तो माता-पिता उसको पालते हैं पोछते हैं और उसको इतना काबिल बनाते हैं कि वह दुनिया में चल सकें वह दुनिया में एक अच्छी पोजीशन पा सके.
जैसे ही इंसान बड़ा होता है तो माता-पिता उसको उंगली पकड़कर स्कूल की ओर ले जाते हैं जहा एक गुरु मिलते हैं जिससे इंसान जिंदगी में और भी आगे बढ़ता है ये जो सब होता है सिर्फ माता-पिता के वजह से होता है,हमारे जीवन में अपने माता-पिता का बहुत ज्यादा महत्व है आजकल मैंने देखा है बहुत से लोग अपने माता पिता को इज्जत नहीं देते उनकी बिल्कुल भी देखभाल नहीं करते,मैं उन सभी से कहना चाहूंगा दोस्तों आज आप जो भी हो सिर्फ और सिर्फ अपने माता-पिता की वजह से हो क्योंकि माता पिता हमारे लिए उसी तरह के हैं जैसे कि भगवान हैं लेकिन दोनों में एक अंतर होता है भगवान कभी भी हमारी हेल्प करने के लिए खुद नहीं आते लेकिन माता पिता हर पल हमारी मदद करने के लिए हमारे साथ तैयार होते हैं हमको एक अच्छा इंसान बनना चाहिए और माता-पिता के महत्व
को समझना चाहिए.आज हम दुनिया में जो भी हो जाहिर सी बात है माता-पिता की वजह से और कहीं ना कहीं आपके माता पिता को आप से कहीं ज्यादा नॉलेज
होगा माता पिता हमको जानकारी देने के लिए किसी विषय में अच्छी से अच्छी जानकारी देने के लिए हमारी मदद कर सकते हैं,माता पिता हमको एक अच्छे दोस्त की तरह समझ सकते हैं और माता-पिता जब तक हमारे साथ नहीं छोड़ते हैं तब तक आप कुछ अच्छा न करने लग जाओ यानी अपने पैरों पर खड़े ना हो जाओ दोस्तों हमें माता पिता के महत्व को समझने की जरूरत है और उनको समझने की जरूरत है,आज हम अगर इस दुनिया में हैं तो सिर्फ और सिर्फ अपने माता-पिता की वजह से है,अगर आप किसी दफ्तर में हैं और लोगों की सेवाएं कर रहे हैं तो सबसे बड़ी बात है कि इसमें आपके माता-पिता का ही योगदान है आपको उन्हें दिल से धन्यवाद देना चाहिए क्योंकि अगर आप बचपन में डॉक्टर बनने का सपना देखते थे और अगर आपके माता पिता आपके उस सपने को पूरा करवाने के लिए हेल्प नहीं करते तो आप अपने सपने को पूरा नहीं कर पाते यानी आप डॉक्टर नहीं बन पाते आप उन गरीब लोगों की मदद नहीं कर पाते हैं.
आज आपका डॉक्टर के वजह से जो नाम है मान सम्मान है सिर्फ और सिर्फ अपने मां बाप की वजह से है.इसके अलावा अगर आप कोई भी जॉब करने वाले हो तो मैं आपसे कहना चाहूंगा की कहीं ना कहीं आपको वहां तक पहुंचाने के लिए आपके मां-बाप ने आप को पढ़ाया है आपको उन्हें दिल से थैंक्स कहना चाहिए अगर आप एक बिजनेस मैन हो तो कहीं ना कहीं आपकी मां बाप ने स्पेशली आपको प्रोत्साहन दिया होगा,दोस्तों मां बाप हमको प्रोत्साहन करते हैं मां-बाप हमको अपने दोस्त की तरह अच्छी तरह से समझते हैं मां-बाप हमारे लिए सब कुछ है और जीवन में मां-बाप का बहुत ज्यादा महत्व है इसलिए हमें उनकी दिल से इज्जत करना चाहिए तभी हम जिंदगी में और भी सफलता अर्जित कर सकते हैं दोस्तों आज आप जिस घर में रहते हो ज्यादातर तो ऐसा ही होता है कि वह घर मां बाप ने बनाया होता है आज आप जिस नाम से जाने जाते हैं उसमें सबसे पहला नाम आपके मां-बाप का आता है आपको अपने मां-बाप के महत्व को समझने की जरूरत है और दिल से उनको इज्जत देने की जरूरत है.
दोस्तों हम दुनिया में किसी का भी कर्ज उतार सकते हैं हमारे रिलेशन में बहुत सारे रिश्तेदार होते हैं जैसे की भाई बहन चाचा चाची भाभी भाई साहब दोस्त या फिर मां बाप दोस्तों इन में भले ही हम किसी भी रिश्ते के कर्ज को उतार सकें लेकिन मां-बाप का कर्ज उतारना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन होता है लोग घर में भगवान की तस्वीर रखते हैं उनको दिल से मानते हैं उनकी पूजा करते हैं लेकिन अगर वह माता पिता को नहीं मानते तो मैं आपसे कहने वाला हूं या तो भगवान की पूजा करना बंद कर देना क्योंकि भगवान भी उसी को मानता है जो अपने मां बाप को मानता है क्योंकि मां बाप कोई और नहीं भगवान का एक अवतार है इसलिए दोस्तों आपको अपने मां बाप को इज्जत देना होगी उनके महत्व को समझना होगा कि आज आप जो भी हो जिस जगह भी हो जो भी करते हो अगर उसके पीछे कोई पावर है तो सबसे बड़ी पावर आपके मां बाप की है इसलिए अपने मां बाप की पावर को समझकर उनके महत्व को समझिये और जिंदगी में दूसरों को भी इसके बारे में बताइए.बहुत से रिश्तो में गुरु का भी एक रिश्ता होता है जहां तक हम पहुंचते हैं अपने मां बाप के जरिए गुरु हमें इस काबिल बनाता है कि हम इस दुनिया में बहुत सी चीजों को समझने के काबिल बन सकें और हम इसके लिए पूरी कोशिश करते हैं और कुछ लोग तो कहते हैं गुरु सबसे बड़ा है यह बात भी सही है लेकिन एक बात यह भी मत भूलना कि अगर आप इस दुनिया में हो अगर आप इस गुरु के पास हो तो सिर्फ और सिर्फ अपने मां बाप की वजह से हो इसलिए आपको सबसे पहले अपने मां बाप के महत्व को समझना होगा उनकी इज्जत करना होगी तभी आपके बच्चे आपकी इज्जत करेंगे जिससे हमारे देश में विराजमान संस्कृति हमेशा बनी रहेगी,दोस्तों हर इंसान को मां बाप के महत्व को समझने की जरूरत है बहुत सी जगह मैंने देखा है कि लोग मां बाप के कर्ज को भी भूल जाते हैं एक मां अपने बच्चे को लगभग 9 महीने गोद में रखती है उसके बाद एक इंसान इस दुनिया में पैदा होता है लेकिन मां के इस खर्च को भी कुछ लोग भूल जाते हैं एक बाप अपने बच्चे को स्कूल का रास्ता दिखाता है और वहां पर वह पढ़ाई लिखाई करके एक अच्छा इंसान और एक काबिल और पैसा कमाने वाला इंसान बन जाता है लेकिन लोग उस कर्ज को भी भूल जाते है वह अपने बच्चों को दिन रात मेहनत करके पैसा कमा कमा कर खिलाते हैं
लेकिन कुछ बच्चे इस कर्ज को भूल जाते हैं.दोस्तों यह बहुत गलत बात है अगर आपको जीवन में सफल होना है तो आपको अपने मां-बाप की इज्जत करना पड़ेगी उनके महत्व को
समझना होगा,एक बार मैं बदरवास गया वहां पर एक बूढी मां आई हुई थी मैंने उनसे बोला आप यहां पर सामान लेने के लिए आई हो अपने बच्चों को या और किसी को भेज सकती हो तभी मां ने आंसर दिया कि मेरे बच्चे शादी करके सभी अलग-अलग रहते हैं तेरे बाबाजी और
मैं साथ रहते हैं कोई भी हमारी मदद नहीं करता सभी काम मुझको खुद करना पड़ता है क्योंकि तेरे बब्बा जी इतने समर्थ नहीं है कि वह सामान लेने के लिए आ सके दोस्तों ऐसी सिचुएशन हर जगह होती है मां बाप अपने बच्चों के लिए सब कुछ करते हैं लेकिन फिर भी बच्चे उनके इस खर्च को भूल जाते हैं दोस्तों हमको मां-बाप के कर्ज को कभी नहीं भूलना चाहिए क्योंकि आज हम दुनिया में हैं और जो भी हैं वह सिर्फ और सिर्फ अपने मां बाप की वजह से दोस्तों मुझे उम्मीद है कि आपको इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद काफी अच्छा लगा होगा और आप भी चाहते होंगे कि मैं भी और दुनिया का हर एक इंसान भी अपने मां बाप के महत्व को समझें और उनकी इज्जत करें,आज अगर आप अपने मां बाप के साथ में रह रहे होंगे तो बुरी परिस्थिति में मां-बाप की मदद करें,आप मां बाप के महत्व को समझें और उनके साथ में रहे यही मेरी अपनी इस पोस्ट को लिखने का मकसद है.                                                               
श्री रमला अहिरवार                                                                                                                                श्री मति सन्ति बाई  
जी हा दोस्तों आप चाहे तो इस ब्लॉगर के माध्यम से आप अपने जीबन में कुछ सीख सकते हो 
एब ये सच हे की यदि किसी से पुछा जाये की आपने भगबान देखा हे या कोई हमसे पूछे की आपने भगबान देखा हे !तो ये बात सच हे की हा मेने माता पिता को भगबान के रूप में देखा हे ! 
जी आपको यदि ये ब्लॉगर पसंद आये तो जरुर किसी अपने मित्र को भेजे